recent posts

सिखों के दस गुरुओं के बारे में तथ्य

Sikh guru name and period logo image elearnner.com

     सिख धर्म के लोग गुरु नानक देव के अनुयायी हैं | गुरु नानक देव का कालखण्ड 1469 - 1538 ई. है | सिख धर्म के लोग मुख्यतः ज्यादातर पंजाब में रहते हैं. वे सभी धर्मों में नियत आधारभूत सत्य में विश्वास रखते हैं और उनका दृष्टिकोण धार्मिक अथवा सांप्रदायिक पक्षपात से रहित और उदार हैं |
    1538 में गुरु नानक की मृत्यु के बाद सिखों का मुखिया गुरु कहलाने लगा | सिख धर्म का इतिहास बलिदानों का इतिहास है. आज हम इस आर्टिकल में सिखों के दस गुरुओं और सिख धर्म के महत्वपूर्ण इतिहास को आपके सामने रखेंगे सिख धर्म के इतिहास में सिखों के दस गुरुओं की लिस्ट कुछ इस प्रकार है -


    Sr nu सिख गुरु  कालखण्ड  
    1 गुरु नानक देव 1469-1538
    2 गुरु अंगद 1538-1552
    3 गुरु अमरदास 1552-1574
    4 गुरु रामदास 1574-1581
    5 गुरु अर्जुनदेव 1581-1606
    6 गुरु हरगोविंद 1606-1645
    7 गुरु हरराय 1645-1661
    8 गुरु हरकिशन 1661-1664
    9 गुरु तेगबहादुर 1664-1675
    10 गुरु गोविन्द सिंह 1675-1708

    1. 1469-1538 सिखों के प्रथम गुरु गुरु नानक देव के शासन के समय
    सिख धर्म की स्थापना और 'आदि ग्रंथ' की रचना
    की रचना की |

    2. 1538-1552 गुरु अंगद के समय गुरुमुखी लिपि की स्थापना जनक

    3. 1552-1574 के बीच में गुरु अमरदास ने धर्म प्रसार हेतु 22 गद्दियों स्थापना की

    4. 1574-1581 गुरु रामदास के समय में अमृतसर की स्थापना 1577 में हुई

    5. 1581-1606 गुरु अर्जुन देव ने स्वर्ण मंदिर की नींव रखी थी और गुरु ग्रन्थ साहब का संकलन किया |

    6. 1606-1645 गुरु हरगोविंद सिंह ने अकाल तख्त की स्थापना की सिखों को लड़ाकू जाती में बदला |

    7. 1645-1661 गुरु हरराय ने मुगलों के युद्ध में भाग लिया

    8. 1661-1664 गुरु हरकिशन की अल्पवयस्क अवस्था में ही मृत्यु हो गई थी |

    9. 1664-1675 गुरु तेगबहादुर जी इस्लाम न कबूल करने के कारण मुस्लिम शासक औरंगजेब द्वारा इनको फांसी दी गई |

    10. 1675-1708 गुरु गोविन्द सिंह सिखों के दसवें तथा अंतिम गुरु थे इन्होंने खालसा पंथ की स्थापना की थी
    Previous
    Next Post »

    Recent in Recipes